सीएम नीतीश कुमार ने किया बिहार विधानमंडल के सेंट्रल हॉल का उद्घाटन।

सिटी न्यूज़ लाइव डेस्क

 

बिहार विधान मंडल के नए सेंट्रल हॉल का  उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया । इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि  विधायिका कार्यपालिका और न्यायपालिका के अलग-अलग विशेष अधिकार होते है  तथा कार्यपालिका न्यायपालिका  और विधायिका को अपनी जिम्मेवारी समझनी चाहिए।    सभी को  संविधान  के दायरे में रहकर विचार देना चाहिए साथ ही उन्होंने कहा कि  सभी को अपने अपने विचारों को मानने की आजादी है  । और देश को मजबूती के लिए फेडरल सिस्टम लागू करना होगा और केंद्र और राज्य के संबंध अच्छे होने चाहिए। 

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी,  बिहार विधान परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष हारून रशीद, संसदीय कार्यमंत्री श्रवण कुमार के साथ-साथ  सूबे के अन्य  मंत्री, विधायक  और विधानपार्षद   मौजूद रहे । 

सेंट्रल हॉल वाला यह देश का पहला विधान मंडल

संसद की तर्ज पर बना यह देश का पहला विधान मंडल है। यहां 500 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। इस सेंट्रल हॉल में राज्यपाल लालजी टंडन 11 फरवरी को विधानसभा और विधान परिषद के संयुक्त सत्र  को संबोधित करेंगे। बता दें कि पहले विधानसभा कक्ष  में ही संयुक्त सत्र  होता था। फिर उसके बाद विधानसभा और विधान परिषद की कार्यवाही शुरू होती थी ।  इसके कारण संचालन में कई तरह की परेशानियां होती थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *