पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को भारत रत्न ।

सिटी न्यूज़ लाइव डेस्क

केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर बड़ा फैसला लेते हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारीका को भारत रत्न देने की घोषणा की है।
सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को टेलीफोन कर इस बात की जानकारी दी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता  रहे प्रणब मुखर्जी बंगाल से आते हैं और राष्ट्रपति बनने के पूर्व उन्होंने केंद्र सरकार में कई सारे महत्वपूर्ण मंत्रालय का भी कार्यभार संभाला था। और उनकी लोकप्रियता सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों में हैं।

 

नानाजी देशमुख और भूपेन हजारीका को यह पुरस्कार मरणोपरांत दिया जाएगा।
जहां भूपेन हाजरिका असम से आने वाले एक बहुमुखी प्रतिभा के गीतकार, संगीतकार और गायक थे। वहीं नानाजी देशमुख एक समाजसेवी थे। वे पूर्व में भारतीय जनसंघ के नेता थे। 1977 में जब जनता पार्टी की सरकार बनी, तो उन्हें मोरारजी-मन्त्रिमण्डल में शामिल किया गया परन्तु उन्होंने यह कहकर कि 60 वर्ष से अधिक आयु के लोग सरकार से बाहर रहकर समाज सेवा का कार्य करें, मन्त्री-पद ठुकरा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *