जिला निर्वाचन अधिकारी सह उपायुक्त श्री अरवा राजकमल के द्वारा समाहरणालय के सभाकक्ष में चुनाव प्रचार समाप्ति अवधि के उपरांत एक प्रेस वार्ता आयोजित की गई।

Reported by sujeet kumar chaibasa

लोकसभा (आम) निर्वाचन 2019.मीडिया कोषांग,पश्चिमी सिंहभूम,चाईबासा

जिला निर्वाचन पदाधिकारी के द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन

जिला निर्वाचन अधिकारी सह उपायुक्त श्री अरवा राजकमल के द्वारा समाहरणालय के सभाकक्ष में चुनाव प्रचार समाप्ति अवधि के उपरांत एक प्रेस वार्ता आयोजित की गई।

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने बताया कि 10 सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र में आज संध्या 4:00 बजे प्रचार समाप्त हो चुका है, सभी उम्मीदवार एवं राजनीतिक दल चुनाव आयोग के द्वारा दिए गए निर्देशों का अक्षरसः पालन करें,राजनीतिक गतिविधियां पूर्णता बंद रहेगी। वैसे व्यक्ति या स्टार प्रचारक जो इस क्षेत्र के वोटर नहीं है वह क्षेत्र छोड़कर चले जाएं अन्यथा उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

चुनाव के अंतिम दिनों में राजनीतिक दलों के द्वारा प्रलोभन देने जैसी शिकायतें भी सामने आती है जिसके लिए जिले में 30 एफएसटी अंतिम दिन तक कार्यरत रहेंगे।कुछ एफएसटी टीम जोनल दंडाधिकारी के रूप में भी काम करेगी।अभी तक जिले में कुल 16 लाख रुपए को सीज किया गया है।

क्षेत्र में आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की भी शिकायतें दर्ज की गई है।दर्ज की गई सभी शिकायतों पर जांच चल रही है जिनके ऊपर शिकायत दर्ज किया गया है उनसे भी स्पष्टीकरण मांगा गया है सभी जांच प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।आचार संहिता उल्लंघन के मामले में आम नागरिकों को भी सजग रहना होगा,आम नागरिक किसी भी शिकायत को सी विजील एप के द्वारा ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं शिकायत आने के बाद उस क्षेत्र की एफएसटी के द्वारा 100 मिनट के अंदर कार्यवाही कर शिकायत का निराकरण करेगी।

चुनाव तैयारियों के बारे में बताते हुए उपायुक्त ने बताया कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण हमारे यहां कुल 130 मतदान केंद्रों पर हैलीड्रोपिंग करवाई जा रही है जिसके तहत आज 9 क्लस्टर में हैलीड्रोपिंग करवाई गई है बाकी नौ क्लस्टर पर कल हेलीकॉप्टर हवाई जाएगी।

136 बूथों का लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा इस टेलीकास्ट को जिला कंट्रोल रूम के साथ ही मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के कार्यालय में भी देखा जा सकता है।बूथ स्तर पर होने वाली किसी तरह गड़बड़ी को भी देखा जा सकेगा। इसके अलावा 100 ऐसे मतदान केंद्र हैं जहां पर माइक्रो ऑब्जर्वर भी भेजे जा रहा है।

नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण इंटेलीजेंस रिपोर्ट के आधार पर 133 मतदान केंद्रों के स्थान परिवर्तन की सूची तैयार की गई थी। जिसके लिए राजनीतिक दल एवं उम्मीदवारों के साथ 27 अप्रैल एवं 1 मई को बैठक भी किया गया था बैठक में पुलिस ऑब्जर्वर एवं उम्मीदवारों की मंजूरी के साथ कुल 93 मतदान केंद्रों के स्थान परिवर्तन करने की सहमति प्रदान की गई।बाद में इस पर चुनाव आयोग के द्वारा भी सहमति प्रदान कर दी गई है। रीलोकेटेड मतदान केंद्रों के बारे में बताने के लिए घर घर पंपलेट बँटवाया जा रहे हैं।वैसे मतदाता जिनका क्षेत्र मतदान केंद्र से दूर हो गए हैं उन के द्वारा माँगने के उपरांत वाहन की व्यवस्था की जाएगी।

जिला प्रशासन के द्वारा हर एक मतदान केंद्रों पर दिव्यांग वोटरों को चिन्हित किया गया है एवं उन्हें बूथ पर लाने के लिए सुविधाएं भी मुहैया कराई जा रही है। क्षेत्र के अन्य संस्थाओं के द्वारा आवेदन प्राप्त हुए हैं कि उनके द्वारा आदर्श मतदान केंद्र बनाया जा रहा है।

जिला उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि मतदान केंद्र के 100 मीटर के अंदर कोई भी सेल्फी प्वाइंट नहीं रहेगी, राजनीतिक कार्यकर्ता इस परिधि के अंदर नहीं रहेंगे। इस क्षेत्र के अंतर्गत दुकान होटल भी बंद रहेगी।

135 सेक्शन के तहत सभी गैर सरकारी संगठनों एवं इंडस्ट्रीज को नोटिस भी दिया गया है मतदान के दिन छुट्टी रखेंगे एवं अपने यहां कर्मियों को मतदान करने का अवसर देंगे।

यह एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर ट्रेन के माध्यम से भी पोलिंग पार्टियां भेजी जा रही है।90 बूथ के लगभग 400 कर्मियों को ट्रेन से भेजा गया है। इन कर्मियों को कोई परेशानी ना हो इसलिए प्रखंड कार्यालय एवं संबंधित सहायक निर्वाचन पदाधिकारी के द्वारा लगातार निगरानी किया जा रहा है।

इस क्षेत्र में 101 ऐसे शैडो एरिया है जहां पर कोई भी मोबाइल नेटवर्क काम नहीं करता उस एरिया में वायरलेस एवं इंटेलिजेंस कि मदद से मॉनिटरिंग की जाएगी। इस पूरे मतदान की प्रक्रिया में लगभग 13000 मतदान कर्मी शामिल किए गए हैं और इस क्षेत्र में कुल मतदाता की संख्या 12,63,585 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *