लोकसभा -पाटलिपुत्रा में एनडीए और महागठबन्धन दोनों अपनी -अपनी कलपुर्जे कसने में जुटे

Reported by Amlesh kumar paliganj


पाटलिपुत्रा संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव की आखरी चरण में 19 मई को होने वाले मतदान है ।वैसे तो दोंनो गठबंधनों के उमीदवारों की नाम पहले से ही तय है ।इसलिए एनडीए के भाजपा उम्मीदवार केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री एवं वर्तमान सांसद रामकृपाल यादव है तो दूसरी ओर से रामकृपाल यादव के पिछली बार प्रतिद्वंदी रहे महागठबन्धन के राजद उम्मीदवार के रूप मे राज्यसभा सांसद एवं राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव के बडे सुपुत्री मीसा भारती चुनौती देते हुए सामने है ।


वैसे तो दोनों प्रत्यशियों को लोकसभा की चुनाव के तैयारियों के लिए पर्याप्त समय मिल गए है ।जिसका भरपूर फायदा उठाते हुए रामकृपाल यादव एवं मीसा भारती दोनों अपने अपने गटबंधन के सहयोगी पार्टियों को एकजुट करने लगे है ।दोनो अपने अपने ढीले कलपुर्जों को कसने में लगे है ।जैसे जैसे मतदान की तारीखे नजदीक आते जा रही रही है ।दोनों खेमे अपने अपने रूठे मतदाताओं को मनाने में जुटे है ।
एनडीए और महागठबंधन की अभी तस्वीरें तो स्पष्ट है ।लेकिन 75 प्रतिशत सही है । वहीँ आगे इन दोनों उमीदवारों की क्या स्थिति होगी ,नामंकन के आखरी तस्वीरों के आने के बाद होगी ,जब निर्दलीय उम्मीदवारो स्थिति स्पष्ट होगी ।कौन निर्दलीय कितना दमदार होंगे और किस खेमे को कितना वह नुकसान पहुँचा सकता है ।यह आखरी तस्वीर आने के बाद ही स्प्ष्ट होगी । जैसे जैसे मतदान की तारीखे नजदीक आते जाएंगे दोनो खेमे में सरगर्मियां बढ़ती जाएंगी ।
वैसे अबतक की जो गतिविधिया हुई है ।उससे एनडीए के रामकृपाल यादव काफी मैराथन बैठके की है ।अपने सहयोगी दलों जदयू और लोजपा के कार्यकर्ताओं के साथ अलग अलग हर विधानसभा स्तरीय स्तर कई बैठकों कर उन्हें विश्वास में लेने की प्रयास किया है ।साथ ही एनडीए के संयुक कार्यकर्ताओ की भो अब बैठके करते हुए नामंकन में आने की न्योता देते जीतोड़ मेहनत कर रहे है ।जहां कहीं से कुछ नाराजगी की खबरे मिल रहे उसे दूर करने की प्रयास कर सबकुछ ठीकठाक करने प्रयास जारी है । जिसके वहज से वे बढ़त बनाए हुए है ।
वहीँ दूसरी ओर राजद की ओर से मीसा भारती भी अपने सहयोगी दलों के कार्यकर्ताओं के साथ संघन सम्पर्क अभियान चला कर अपने गटबंधन के कलपुर्जो को कसने में लगी है।वैसे उनके खुद के पारिवारिक आंतरिक कलह से कुछ कार्यताओं में असमंजस की स्थिति बनी हुई ।जिसके वजह से खुलकर कार्यकर्ता कुछ भी बोलने में कतरा रहे है ।जिसके वजह से महागठबंधन में उत्साह की कुछ कमी दिखाई दे रही है ।फिर भी मीसा भारती को कम आंकना किसी जल्दीबाजी से कम नही होगा ।मेरे हिसाब से इस समय एनडीए थोड़ी बढ़त जरूर महागठबंधन पर बनाए हुए है।लेकिन जैसे मतदान की समय करीब आएगा गर्मी की लहर के साथ चुनावी गर्मी बढ़ती जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *