राजधानी पटना की हवा हुई बेहद खराब ।सांसो में जहर है, जी हाँ ये पटना शहर है।

 

आदित्य आनंद//सिटीन्यूज़ लाइव

आमतौर पर अगर प्रदूषण की स्तर की बात होती है। तो सबके जेहन में राजधानी दिल्ली का नाम उभर आता है। सारी मीडिया रिपोर्टिंग ,डिबेट्स दिल्ली पर ही टिकी रहती है।और इसको लेकर खूब आरोप प्रत्यारोप भी लगाए जाते हैं।और ये ट्रेंडिंग टॉपिक बना रहता है। पर क्या आपने कभी पटना के पॉल्युशन लेवल के बारे में सोचा है कि यहाँ की हवा में कितनी जहर घुल चुकी है।चलिए हम आपको बता देते देते हैं कि बिहार की राजधानी पटना में कैसी है हवा की गुणवत्ता,वही हवा जो हमारे लिए लिए प्राणवायु है।


सामान्यतः 51-100 के एयर क्वालिटी इंडेक्स को स्वच्छ माना जाता है। लेकिन पटना के हवा की गुणवत्ता बीते नवम्बर और दिसम्बर में काफी खराब होते गई है और अगर बुधवार की रिपोर्ट्स पर गौर करें तो यहाँ एयर क्वालिटी इंडेक्स पीएम 2की मात्रा 465 पर पहुँच चुकी है और चिंता की बात ये है कि यह देश की राजधानी दिल्ली के एयर क्वालिटी इंडेक्स पीएम 2 की मात्रा 422  से भी अधिक है। आप समझ सकते है कि पटना में हमारे आसपास की हवा कितनी जहरीली हो चुकी है। यहां आपको ये भी बता दें कि पटना के साथ साथ मुजफ्फरपुर में भी हवा की गुणवत्ता काफी खराब दर्ज की गई औऱ बिहार के ये दोनों बड़े शहर पॉल्युशन के मामले में टॉप थ्री सिटी में शामिल हो गए हैं।यहां धुन्ध की चादर फैली रहती है। जो बेहद ही चिंताजनक है और वक्त रहते इसमे सुधार बेहद जरूरी है।

पर्यावरण विशेषज्ञ मानते हैं की पटना आसपास के क्षेत्र में चल रहे विभिन्न फैक्टरी, ईंट भट्टा ,बिना उचित मानक के भवन निर्माण, सड़को पर वाहनों से भीड़ से बढ़े प्रदूषण इसके लिए सबसे अधिक जिम्मेरदार हैं।

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि इससे बच्चे बूढ़े गर्भवती महिलाओं को को स्वास्थ्य संबंधी समस्या का सामना करना पड़ सकता है ।और सड़क पर मास्क पहन कर निकलना ही उचित होगा  साथ इसके  लिए जगह जगह पर वृक्षारोपण और उसका संरक्षण अत्यंत आवश्यक है।

और सरकार को अब इस पर गंभीर विचार करना होगा और साथ ही एक मानक तय करना होगा जिससे बिहार की राजधानी के लोग साफ हवा में सांस ले सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *